संख्याओं के प्रकार – संख्या पद्धति भाग 1

आज के इस आर्टिकल में हम आपको संख्या पद्धति (Number System) का एक भाग पढ़ाएंगे। जिसमे संख्याओं के प्रकार (Types of Numbers) के बारे में बात करेंगे।

संख्याओं के प्रकार में हम प्राकृतिक संख्या, पूर्ण संख्या, परिमेय संख्या, अपरिमेय संख्या, सम संख्या, विषम संख्या, भाज्य तथा अभाज्य संख्या आदि के बारे में पढ़ेंगे और समझेंगे।

संख्याओं के प्रकार (Types of Numbers)

संख्याओं के प्रकार
संख्याओं के प्रकार

कुल 11 प्रकार की संख्याओं को यहां पढ़ेंगे।

1- प्राकृतिक या प्राकृत संख्याएं (Natural Numbers)

एक से लेकर अनन्त तक की संख्याएं, प्राकृतिक संख्याएं कहलाती हैं। (Natural Numbers in Hindi)

जैसे- 1, 2, 3, 4, 5……

2- पूर्ण संख्याएँ ( Whole Numbers )

शून्य से लेकर अनन्त की संख्याएँ, पूर्ण संख्याएं कहलाती हैं। (Whole Numbers in Hindi) जैसे : 0 , 1 , 2 , 3, 4 , . . . . .

3 – पूर्णांक ( Integers ) :

ऋणात्मक अनन्त से शून्य तक एवं शून्य से अनन्त तक की संख्याएँ, पूर्णांक कहलाती हैं । (Integers in Hindi)

जैसे : . . . . . . . – 4 , – 3 , – 2 , – 1 , 0 , 1 , 2 , 3 , 4 , . . . . . . .

4- परिमेय संख्याएँ ( Rational Numbers ) :

वे सभी संख्याएँ जिन्हें a/b ( जहाँ b = 0 न हो ) रूप में लिखा जा सकता है , परिमेय संख्याएँ कहलाती है । यहाँ a तथा b धानात्मक पूर्णांक या पूर्ण संख्याएँ हैं ।

जैसे : 4 = 4/1, 5/2, 5/6….

5- अपरिमेय संख्याएँ ( Irrational Numbers ) :

वे सभी संख्याएँ जिन्हें a/b (जहां b=0 नही है) के रूप में नहीं लिखा जा सकता है , अपरिमेय संख्याएँ कहलाती हैं। जैसे : √2 , √5 , √15 . . . .

नोट- सभी अभाज्य संख्याओं का वर्गमूल अपरिमेय संख्या है।

6- सम संख्याएँ ( Even Numbers ) :

वे सभी प्राकृत संख्याएँ जो 2 से पूर्णतया विभाजित हो जाती हैं , सम संख्याएँ कहलाती हैं । यदि इकाई का अंक 0 , 2 , 4 , 6 या 8 है तो संख्या सम है।

जैसे : 5638 , 2968 , 4712 , 3916 आदि ।

7- विषम संख्याएँ (Odd Numbers ) :

वे सभी प्राकत संख्याएँ जो 2 से पूर्णतया विभाजित नहीं हो पाती हैं , विषम संख्याएँ कहलाती हैं । यदि इकाई का अंक 1 , 3 , 5 , 7 या 9 है तो संख्या विषम संख्या है ।

जैसे : 3719 , 6313 , 2967 , 165 आदि ।

8- अभाज्य संख्याएँ ( Prime Numbers ) :

वे सभी प्राकृत संख्याएँ जो केवल 1 से या स्वयं से ही विभाजित होती हैं , अभाज्य संख्याएँ कहलाती हैं ।

जैसे : 2 , 3 , 5 , 7 , 11 , 13 , 17 , 19 , 23 , 29 , . . . . . . . .

नोट : 1- न ही भाज्य संख्या है , न ही अभाज्य।
2- एकमात्र सम संख्या एवं अभाज्य संख्या है।

9- सह – अभाज्य संख्या (Co – Prime Number) :

दो प्राकृत संख्याएँ सह-अभाज्य कहलाएँगी यदि उनका म. स . 1 हो अर्थात 1 के अलावा कोई भी उभयनिष्ठ गुणनखण्ड न हो । जैसे : ( 2 , 3 ) , ( 3 , 4 ) , ( 5 , 9 ) , ( 13 , 15 ) , ( 15 , 16 ) आदि।

10- पूर्ववर्ती सख्या (Predecessor Number ):

किसी भी संख्या के पूर्व में अर्थात पहले आन वाली संख्या उस मूल संख्या की पूर्ववर्ती संख्या कहलाती है । इसकी गणना दी गई संख्या में से 1 घटा कर की जाती है ।

जैसेः 1015 की पूर्ववर्ती संख्या – 1015 – 1 = 1014 है।

11- परवर्ती संख्या (Successor Number)

किसी भी संख्या के बाद में आने वाली संख्या उस मूल संख्या की परवर्ती संख्या कहलाती है। इसकी गणना दी गयी संख्या में 1 जोड़ कर की जाती है।

जैसे- 4019 की परवर्ती संख्या 4019+1 = 4020 है।

संख्याओं के प्रकार (Types of Numbers in Hindi)

फाइनल वर्ड- तो दोस्तों ये थे संख्याओं के प्रकार (Types of Numbers in Hindi) इसमें हमने प्राकृतिक संख्या, पूर्ण संख्या, सम संख्या, विषम संख्या, भाज्य व अभाज्य संख्या, परिमेय एवं अपरिमेय संख्या आदि पढा। बताइये आपको कैसा लगा। अगर समझ मे आया हो तो आप हमारी Maths Category में और भी चीजें पढ़ सकते हैं।

Leave a Comment